नोटबंदी के दो साल पर पूरे होने पर वित्त मंत्री अरुण जेटली का आया बड़ा बयान

नई दिल्ली। नोटबंदी के दो साल पूरे होने पर विपक्षी दलों की तरफ से सरकार को निशाना बनाने और प्रधानमंत्री से इसके लिए माफी की मांग के बीच केन्द्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली ने सरकार के इस कदम का बड़े ही सफल तरीके से बचाव किया है। (2 Years of Demonetisation)

अरुण जेटली ने नोटबंदी (Demonetisation) को लेकर क्या कहा-

आपको बता दें, वित्त मंत्री अरूण जेटली ने अपने पोस्ट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तरफ से 8 नवंबर 2016 की आधी रात को 500 और 1000 रूपये के नोट पर बैन को “अर्थव्यवस्था को दुरूस्त करने की दिशा में सरकार की तरफ से उठाए गए महत्वपूर्ण फैसलों में से एक करार दिया।”

अरुण जेटली ने नोटबंदी के परिणाम के बारे में बताया कि कर व्यवस्था को समझना बड़ा मुश्किल हो गया था। जेटली ने आगे लिखा- “नोटबंदी को लेकर गलत आलोचना यह की जा रही है कि सारे पैसे बैंकों में जमा कर लिए गए। पैसे की जब्ती करना नोटबंदी का मकसद नहीं था। अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने और कर चुकाना इसका व्यापक लक्ष्य था।”

किस बात पर पड़ा असर

उन्होंने कहा- “भारत को कैश से डिजिटल लेनदेन के लिए ले जाने के लिए व्यवस्था दुरूस्त करने की जरूरत थी। वास्तविक तौर पर इसका हायर टैक्स रिवैन्यू और हायर टैक्स बेस पर असर होगा।”

जेटली ने कहा नोटबंदी करने से टैक्स का दाय़रा बढ़ा

इस मौके पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नोटबंदी के समर्थन में एक ब्लॉग लिखा है। जेटली के मुताबिक नोटबंदी से ब्लैक मनी पर लगाम लगी है साथ ही टैक्स का दायरा भी बढ़ा है। उन्होंने लिखा है कि नोटबंदी सरकार के अहम फैसलों की एक कड़ी है जो अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए जरूरी है।

जेटली के मुताबिक नोटबंदी के बाद टैक्स चोरी करना मुश्किल हो गया है। उन्होंने लिखा है कि नोटबंदी की लोग ये कहते हुए आलोचना कर रहे हैं कि लगभग सारा कैश बैंकों में वापस आ गया। लेकिन नोटबंदी के सहारे हमारा मकसद सिर्फ कैश को ज़ब्त करना नहीं था। हम चाह रहे थे कि लोग टैक्स के दायरे में आए। हमें कैशलेस इकॉनमी से डिजिटल लेन-देन की दुनिया में आना था। नोटबंदी से ज़्यादा टैक्स रेवेन्यू जमा करने और टैक्स बेस को बढ़ाने में मदद मिल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.